RBI Digital Rupee क्या है? डिजिटल रुपया Pilot की पूरी जानकारी

RBI Digital Rupee क्या है

RBI Digital Rupee क्या है? डिजिटल रुपया Pilot की पूरी जानकारी

भारत सरकार ओर RBI पिछले कई वर्सो से डिजिटल करन्सी पर नजर बनाई हुई थी, पर कभी इतना ज्यादा इन्टरिस्ट लिया नई था। पिछले दो सालों मे लोगों के क्रिप्टो में पैसा लगाने और कई गुना रिटर्न मिलने की बड़ी दौड़ को देखते हुए भारत ने केंद्रीय बजट 2022 के दौरान, सेंट्रल बैंक डिजिटल मुद्राओं (CBDC) के अपने वर्ज़न की घोषणा की, जिसे डिजिटल रुपया कहा गया है।

ये पूरी तरह से Blockchain Technology पर आधारित है। यह डिजिटल रुपया पायलट कार्यक्रम अब भारत में 1 नवंबर 2022 से शुरू हो गया है। RBI द्वारा लॉन्च Indian digital currency का उपयोग सरकारी सिक्योरिटीज में व्यापार करने के लिए किया जा सकता है। इस कार्यक्रम में नौ(9) बैंक भाग लेंगे, जिसकी लिस्ट नीचे दी गई है: 

  1. State Bank of India
  2. Bank of Baroda
  3. Union Bank of India
  4. HDFC Bank
  5. ICICI Bank
  6. Kotak Mahindra Bank
  7. Yes Bank
  8. IDFC First Bank
  9. HSBC

डिजिटल रुपया (Retail segment) aka (e₹-R) भी है, जो सामान्य उपयोग के लिए है. इसमें ग्राहक और व्यापारी शामिल है। चुनिंदा स्थानों पर कुछ बंद उपयोगकर्ता समूहों के लिए इसका पायलट एक महीने के भीतर शुरू होने की उम्मीद है।

RBI की Press Release में कहा गया है कि “आगे जाकर, अन्य होलसेल ट्रैन्सैक्शन और सीमा पार से पेमेंट भविष्य में शुरू होगा।”

Indian digital currency e-rupee से जुड़ी कुछ बातें

क्योंकि यह एक fiat मुद्रा है। आप किसी भी मूल्य को खोए बिना एक डिजिटल रुपये के लिए भौतिक INR में व्यापार कर सकते हैं।

यह डिजिटल रुपया दो प्रकारों में उपलब्ध होने वाला है, सामान्य उपयोग या रिटेल (CBDC-R) और होलसेल (CBDC-W)। आरबीआई जारी करने और प्रबंधन करने वाले प्राधिकरण को परिभाषित करेगा जो डिजिटल रुपये का उपयोग करके सभी लेनदेन की निगरानी करेगा।

डिजिटल रुपया भारत को केंद्रीकृत क्रिप्टोक्यूरेंसी प्रणाली अपनाने वाले कुछ देशों में से एक बना देगा। चीन सरकार द्वारा जारी डिजिटल मुद्रा के लिए रुझान स्थापित करने वाला पहला देश था, और भारत अब उस सूची में शामिल हो गया है, जिसमें कुछ अन्य देश भी शामिल हैं।

यह करेंसी पूरी तरह से ब्लॉकचेन तकनीक का उपयोग करेगा। क्रिप्टोकरेंसी के सभी उपयोगी लक्षण डिजिटल रुपये के साथ उपलब्ध होंगे। 

RBI ने अभी स्पष्ट नहीं किया है, की जनता के लिए ये कब रॉलऔट होगा पर, सार्वजनिक रोलआउट एक महीने के बाद शुरू होता है। यह एक परीक्षण चरण भी होगा जो नव-विकसित डिजिटल मुद्राओं के बिंदुओं की पहचान करेगा।

यह भी पढे:

शेयर करे:

हैलो दोस्तों, मैं JD, Hinditag.com का Author & Founder हूँ. मुझे Computer, Internet, Technology से सम्बंधित नयी नयी चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाना बहुत पसंद है. यहा पर मैं कंप्यूटर, इंटरनेट के बारे में अपना ज्ञान साझा करता हूं.

Leave a Comment